पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का 67 साल की उम्र में निधन

नई दिल्ली | पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की 67 वर्ष की उम्र में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया. 

पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का मंगलवार रात निधन हो गया। वह 67 वर्ष की थीं। उनके पार्थिव शरीर को बुधवार दोपहर 12 बजे भाजपा के मुख्यालय में ले जाया जाएगा और अंतिम संस्कार दोपहर 3 बजे लोधी रोड इलेक्ट्रिक श्मशान में किया जाएगा।

स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन, नितिन गडकरी अस्पताल पहुंच चुके हैं. वहीं गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी एम्स पहुंच गए हैं. पीएम मोदी कुछ ही देर में सुषमा स्वराज के घर पहुंचेंगे.

सुषमा स्वराज का पार्थिव शरीर उनके घर ले जाया जा रहा है. बता दें सुषमा स्वराज की तबियत काफी लंबे समय से खराब बनी हुई थी. सुषमा स्वराज ने करीब तीन घंटे पहले ही आर्टिकल 370 हटने के बाद ट्वीट किया था.

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में सुषमा मंत्री पद स्वीकार करने से इनकार कर दिया था. सुषमा स्वराज ने स्वास्थ्य कारणों से पिछला लोकसभा चुनाव  लड़ने से मना कर दिया था.

यमन से 4640 भारतीयों को सुरक्षित बचाया

यमन में जब हूथी विद्रोहियों और सरकार के बीच जंग छिड़ी तो हजारों भारतीय इस जंग के बीच में फंस गए. जंग लगातार बढ़ती जा रही थी और सऊदी अरब की सेना लगातार यमन में बम गिरा रही थी. इसी बीच फंसे भारतीयों ने विदेश मंत्री सुषमा स्‍वराज से मदद की गुहार लगाई.

भारतीयों के लिए सुषमा स्‍वराज ने ऑपरेशन राहत चलाया और ऑपरेशन के दौरान साढ़े पांच हजार से ज्‍यादा लोगों को बचाया गया. ये ऑपरेश इतना सफल रहा कि भारत ही नहीं यमन में फंसे 41 देशों के नागरिकों को इस ऑपरेशन के जरिए ही सुरक्षित बचाया जा सका. इसमें से 4640 भारतीय थे.

विदेश मंत्री के तौर पर उन्होंने कई ऐसे काम किए जिनके बाद हिंदुस्तान ही नहीं बल्कि दुनिया के कई देशों के लोगों ने सिर झुकाकर उन्हें सलाम किया. मोदी सरकार की तेज तर्रार मंत्रियों में से एक कही जाने वाली सुषमा स्वराज ने कई बार अंतरराष्ट्रीय मंच पर आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान को आड़े हाथों लिया.

Please follow and like us:
error0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *